Decision Making in C in Hindi

Language C

जब किसी प्रोग्राम में एक से अधिक टास्क में से किसी एक टास्क को चुनना होता है तो इसके लिए डिसिशन मेकिंग स्टेटमेंट लिखने की आवश्यकता होती है ।

जैसे हमें यदि यह प्रोग्राम बनाना हो कि यदि वोटर की आयु १८ वर्ष या अधिक हो तो ही उन्हें वोट देने दें अन्यथा नहीं ।

टास्क 1 – यदि आयु 18 वर्ष या अधिक हो तो ही उन्हें वोट देने दें
टास्क 2 – यदि आयु 18 वर्ष से कम हो तो ही उन्हें वोट न देने दें

इसके लिए हम पहले वोटर की आयु चेक करेंगे और उसी के अनुसार टास्क एक्सेक्यूट (रन ) होगी । और यहां पर वोटर की आयु चेक करने के लिए जो स्टेटमेंट लिखेंगे उन्हें ही डिसिशन मेकिंग स्टेटमेंट कहते हैं । क्योंकि उस पर ही ये निर्भर होता है की कौन सी टास्क आगे रन होगी ।

decision making statement in C
decision making statement in C

C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में नॉन जीरो या non-null वैल्यू का अर्थ होता है true और जीरो या null वैल्यू का अर्थ होता है false । C  जितने तरह के डिसिशन मेकिंग स्टेटमेंट सपोर्ट करता हैं वो सभी नीचे टेबल में दिए गए हैं ।

Boolean Expression – बूलियन एक्सप्रेशन वो एक्सप्रेसशन होता है जिसका रिजल्ट true या false में ही हो सकता है ।

S.N. Statement & Description
1 if statementयदि सिर्फ if स्टेटमेंट है तो उसमें if के बाद कोई बूलियन एक्सप्रेशन होगा फिर एक या अधिक लाइन की स्टेटमेंट होगी । और ये स्टेटमेंट तभी रन होगी जब if की बूलियन एक्सप्रेशन का रिजल्ट trueहोगा ।
2 if…else statement यदि if के साथ else स्टेटमेंट भी है तो यदि if के बूलियन एक्सप्रेशन का रिजल्ट true होता है तो if के बाद वाले स्टेटमेंट रन होते हैं और यदि उसका रिजल्ट false होता है तो else वाला स्स्टमेंट रन होता है
3 nested if statements जब हम एक if या else या if और else दोनों के  अंदर दूसरा या अधिक if या if  else या else if  स्टेटमेंट लिखते हैं । तो उसे नेस्टेड इफ स्टेटमेंट कहते हैं ।
4 switch statement स्विच स्टेटमेंट में एक कंडीशन होती है और और इस कंडीशन के रिजल्ट के आधार पर ढेर सारे टास्क में से कोई एक ही रन होता है ।
5 nested switch statements नेस्टेड if की ही तरह एक स्विच स्टेटमेंट के अंदर जब एक या अधिक स्विच स्टेटमेंट लगाएं जाते हैं तो उसे नेस्टेड स्विच स्टटेमें कहते हैं ।

Ternary Operator

डिसिशन मेकिंग स्टेटमेंट में इफ की ही तरह टर्नरी ऑपरेटर भी होता है ।  syntax

इसे कंडीशन ? स्टेटमेंट 1 रन होगा जब कंडीशन का रिजल्ट true होगा   : स्टेटमेंट 2 रन होगा जब कंडीशन का रिजल्ट false होगा । जैसे

X = (Y == 1)  ? 3 : 4

इसमें  (Y==1)  कंडीशन पार्ट है  तथा 3 स्टेटमेंट 1 और 4 स्टेटमेंट 2 है ।

इस स्टेटमेंट के अनुसार यदि  Y की वैल्यू  1  होगी तब  वैल्यू 3 X में स्टोर होगी  अन्यथा वैल्यू 4 X में स्टोर होगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *