Railway exam selection process for assistant loco pilot alp posts

Railway exam selection process for assistant loco pilot alp posts { असिस्टेंट लोको पायलट }

Job Opening

Railway exam selection process for assistant loco pilot alp posts { असिस्टेंट लोको पायलट }: रेलवे का ये अब तक का सबसे बड़ा एग्जाम है जिसमें 90 हजार पदों पर भर्ती की जाएगी। यह एग्जाम देश की 15 भाषाओं में होगी। इन 90 हजार पदों में से 26,502 पद ग्रुप-सी यानी असिस्टेंट लोको पायलट (ALP) और टेक्नीशियन के हैं।

असिस्टेंट लोको पायलट (ALP) के पद पर सिलेक्शन की पूरी प्रोसेस :

1.फर्स्ट स्टेज सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट)
2. सेकंड स्टेज सीबीटी
3. कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट (AT)

फर्स्ट स्टेज CBT
पहले स्टेज की CBT में 60 मिनट में 75 सवाल पूछे जाएंगे। एग्जाम क्वालिफाई करने के लिए सामान्य श्रेणी के कैंडिडेट्स को न्यूनतम 40%, ओबीसी कैंडिडेट्स को न्यूनतम 30%, एससी को न्यूनतम 30% और एसटी कैंडिडेट्स को न्यूनतम 25% अंक हासिल करने होंगे। इसमें मैथ्स, रीजनिंग, जनरल साइंस और जीके-कंरट अफेयर से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे। इसमें क्वालिफाई करने वालों को ही सेकंड स्टेज CBT में भाग लेने का मौका मिलेगा।

सेकंड स्टेज CBT
यह एग्जाम 150 मिनट की होगी। इसमें दो पार्ट होंगे। पार्ट A के लिए 90 मिनट का समय मिलेगा और इसमें 100 सवाल होंगे। इसे क्वालिफाई करने के लिए भी सामान्य श्रेणी के कैंडिडेट्स को न्यूनतम 40%, ओबीसी कैंडिडेट्स को न्यूनतम 30%, एससी को न्यूनतम 30% और एसटी कैंडिडेट्स को न्यूनतम 25% अंक हासिल करने होंगे। पार्ट A में मैथ्स, रीजनिंग, जनरल साइंस और जीके-कंरट अफेयर से संबंधित सवाल होंगे।

पार्ट B के लिए 60 मिनट का समय दिया जाएगा। इसमें कुल 75 सवाल पूछे जाएंगे। पार्ट B क्वॉलिफाई करने के लिए सभी श्रेणी के कैंडिडेट 35% अंक हासिल करने होंगे। पार्ट B में ट्रेड सिलेबस के सवाल आएंगे। संबंधित ट्रेड का सिलेबस रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय (DGET) की वेबसाइट से देख सकते हैं। इस टेस्ट में केवल क्वालिफाई करना जरूरी होगा। मेरिट बनते समय इसके मार्क्स नहीं जुड़ेंगे।

कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट (AT)
थर्ड स्टेज केवल असिस्टेंट लोको पायलट पोस्ट के लिए अप्लाई करने वाले कैंडिडेट्स के लिए होगा। इसमें कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट (AT) होगा। सेकंड स्टेज के पार्ट A और पार्ट B क्वालिफाई करने वाले कैंडिडेट्स को इसमें बुलाया जाएगा। इस स्टेज में सभी वर्गों के कैंडिडेट्स को कम से कम 42% मॉर्क्स लाने होंगे।

निगेटिव मार्किंग का भी ध्यान रखें…
फर्स्ट और सेकंड दोनों ही स्टेज में निगेटिव मार्किंग होगी। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काटा जाएगा। यानी तीन गलत जवाब देने पर एक अंक कट जाएगा। हालांकि कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट में कोई निगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

मेरिट लिस्ट के आधार पर सिलेक्शन :
मेरिट लिस्ट के आधार पर सफल कैंडिडेट्स को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए इनवाइट किया जाएगा। अच्छी बात यह है कि इसमें कोई इंटरव्यू नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *