Loops in C in Hindi

प्रोग्रामिंग में बहुत बार ऐसी स्थिति आती है जब कोड में किसी लाइन को या कुछ लाईन को बार बार रन कराने की आवश्यकता पड़ती है । ऐसी स्थिति में हम लूप का इस्तेमाल करते हैं । लूप भी एक तरह का प्रोग्रामिंग स्टेटमेंट है । लूप लगते समय कुछ बातें ध्यान देने की होती […]

Continue Reading

Decision Making in C in Hindi

जब किसी प्रोग्राम में एक से अधिक टास्क में से किसी एक टास्क को चुनना होता है तो इसके लिए डिसिशन मेकिंग स्टेटमेंट लिखने की आवश्यकता होती है । जैसे हमें यदि यह प्रोग्राम बनाना हो कि यदि वोटर की आयु १८ वर्ष या अधिक हो तो ही उन्हें वोट देने दें अन्यथा नहीं । […]

Continue Reading

Operators in C in Hindi

एक ओपेरटर एक ऐसा सिम्बल है जो कि कंपाइलर को बताता है कि इस जगह मैथमैटिकल फंक्शन करना है या लॉजिकल फंक्शन करना है । कि लैंग्वेज में कुल मिला कर 6 तरह के ऑपरेटर हैं । Arithmetic Operators ( अरिथमेटिक  ऑपरेटर्स ) Relational Operators ( रिलेशनल  ऑपरेटर्स ) Logical Operators ( लॉजिकल  ऑपरेटर्स ) Bitwise Operators ( बिटवाइज  ऑपरेटर्स […]

Continue Reading

Storage Classes in C in Hindi

स्टोरेज क्लास यह बताता है कि हम वेरिएबल या फंक्शन  को कहाँ (scope) तक और कब तक (lifetime ) access कर सकते हैं या उसकी वैल्यू ले सकते हैं | इसे वेरिएबल डिफाइन करते समय डाटा टाइप से पहले लिखते हैं ।  C में चार  तरह के स्टोरेज क्लास होते हैं । auto – ये स्टोरेज क्लास सभी लोकल […]

Continue Reading

Syntax Of C Program in Hindi

Syntax Of C Program in Hindi C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बहुत से पार्ट होते हैं इस पोस्ट में हम उनके बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे  जैसे टोकन, सेमिकोलन , कमेंट , कीवर्ड , आइडेंटिफायर , व्हाइटस्पेस  आदि । टोकन (Token)– एक कि प्रोग्राम में बहुत तरह के टोकन होते हैं । ये टोकन या तो […]

Continue Reading

Constants in C in Hindi

constants उस वेरिएबल को कहते हैं  जिसकी वैल्यू पूरे प्रोग्राम के execution  के टाइम में नहीं बदलती है | इन फिक्स वैल्यू को litrals भी कहते हैं | Contants किसी भी बेसिक डाटा टाइप के तरह के हो सकते हैं जैसे integer constants , character constant , float constants etc. contants भी एक प्रकार के वेरिएबल ही हैं बस उनकी वैल्यू […]

Continue Reading

Variable in C in Hindi

Variable in C in Hindi वेरिएबल वास्तव में एक स्टोरेज स्पेस का नाम होता है जिसके इस्तेमाल हम अपने प्रोग्राम में  कोई भी वैल्यू को स्टोर करने के लिए करते हैं |  C का कोई भी वेरिएबल किसी स्पेसिफिक टाइप का ही हो सकता है जिसकी चर्चा हमने पिछले पोस्ट , डाटा टाइप्स इन C , […]

Continue Reading

Data Types in C in Hindi

Data Types in C in Hindi C में डाटा टाइप वेरिएबल डिफाइन और फंक्शन डिफाइन की टाइप डिफाइन करता है ।  इसको यदि हम सरल भाषा में कहें तो अगर हम integer पर काम काम करना चाहते हैं  तो वेरिएबल इन्टिजर डाटा टाइप का ही  डिफाइन करना होगा | वेरिएबल की टाइप से हमें यह पता चलता है […]

Continue Reading